राहुल गांधी के लिए मौसी से वोट मांगते सुरजेवाला

राजनीतिक व्यंग्य

आपको रमेश शिप्पी की मशहूर फिल्म शोले का वो डायलॉग तो जरूर याद होगा, जब फिल्म के नायक अमिताभ बच्चन (जय) अपने मित्र धर्मेंद्र (बीरू) के लिए बसंती (हेमा मालिनी) का हाथ मांगने बंसती की मौसी के घर जाते हैं..

आजकल वैसा ही संवाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है..

बस यहाँ बसंती की मौसी से रणदीप सुरजेवाला राहुल गांधी के लिए वोट मांग रहे हैं..

आप भी इस मज़ेदार संवाद का लुत्फ लीजिए..

सन् 2019 के लिए मौसी से वोट माँगने पहुँचे रणदीप सुरजेवाला..

मौसी -: देखो बेटा पढ़ी लिखी सयानी हूँ, कोई आलिया भट्ट तो हूँ नहीं। हां.. इतना तो पूछना ही पड़ेगा कि तुम्हारे नेता ने किया क्या है?

सुरजेवाला -: करने का क्या है मौसी जी, एक बार  PM बन जाए, देश की ज़िम्मेदारी सिर पे पड़ेगी तो कुछ करने भी लग जायेगा।

मौसी -: हाय दय्या! फिर मतलब? पहले कुछु भी नहीं किया?

सुरजेवाला -: अरे-अरे मौसी आप तो हमारे युवराज को गलत समझ रही है। अभी तो बेचारा 49 का हुआ है, पहले इसके पिताजी ने बोफोर्स घोटाला किया, अब जरूरी तो नही ये भी घोटाले करेगा, हाँ घोटाले करने का तजुर्बा हमारे युवराज को विरासत में मिला है, जो भी पिछली सरकार में घोटाले हुए उनका जिम्मेदार वो मनमोहन सिंह था, हमारा युवराज नही।

मौसी -: हाय! इतना कुछ हुआ और कुछु बोला भी नाहीं!

सुरजेवाला -: अब बोलने का क्या हैं मौसी! युवराज ने तो पत्रकारों के सामने मनमोहन का बिल फाड़ा था। मगर माँ के खिलाफ भला कैसे बोलते।

मौसी -: ओ हो हो! तो क्या माँ से डरता है?

सुरजेवाला -: अरे अरे मौसी, वो और माँ से डरे, न न ना। अब लड़कपन में किसे क्या पता होता है, क्या अच्छा क्या बुरा। एक बार PM बन जाये तो बुद्धि भी आ ही जाएगी।

मौसी -: मुझ बुढ़िया को समझा रहे हो बेटा जिसको 49 साल में बुद्धि नही आई, उसे अब क्या आएगी, सुना है तुम्हारे युवराज को लोग पप्पू भी कहते है।

सुरजेवाला -: अरे मौसी PM बनते ही विदेशों के दौरे शुरू हो जाएंगे, और वहाँ अपना दिमागी इलाज भी शुरू करवा लेगा। पप्पू तो लोग  भारत में ही बोलते है ना, विदेश जाएगा तो सब ठीक हो जाएगा।

मौसी -: बस यही एक कमी रह गयी थी।

सुरजेवाला -: मौसी जी! विदेश तो बड़े-बड़े खानदान के लोग अपना इलाज कराने जाते है।

मौसी -: एक बात तो माननी पड़ेगी लाख कमी हो तुम्हारे नेता में मगर तुम्हारे मुँह से तारीफ़ ही निकले हैं।

सुरजेवाला -: अब क्या बताये मौसी हम सेवको का तो दिमाग ही ऐसा हैं।

मौसी -: जाते-जाते ये ही बताते जाओ बेटा तुम्हारा नेता पढा-लिखा कितना है?

सुरजेवाला -: बस यूं समझिये मौसी जी, जैसे ही खबर मिलेगी, सबसे पहले आपको ही बतायेगे।

तो मौसी जी आपका वोट पक्का समझूँ।

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!
Leave A Reply

Your email address will not be published.