राजीव गांधी की जंयती में संसद सदस्यों ने श्रद्धासुमन अर्पित किए

नई दिल्ली: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को सोमवार को उनके जन्म जंयती के अवसर पर सांसद गणों ने फूल अर्पित किये। राजीव गांधी जो की भारत के सातवें प्रधानमंत्री 1984-1989 तक रहे ने भारत को आगे बढाने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए। राजीव गांधी अपनी मां इंधिरा गांधी के हत्या के बाद प्रधानमंत्री बने। 1991 में उनकी भी हत्या कर दी गयी थी।

संसद के केंद्रीय हॉल में मौजूद नेताओँ में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन; पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह; राज्य सभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद; संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल; सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय में राज्य मंत्री विजय गोयल; पूर्व उप-प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में संसद सदस्यों ने आज पूर्व प्रधान मंत्री, राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर संसद  भवन के केन्द्रीय कक्ष में उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए।

लाल कृष्ण आडवाणी राजीव गांधी की जंयती के अवसर पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए।

राजीव गांधी को पुष्पांजलि अर्पित करने वाले विशिष्टजनों में अनेक संसद सदस्य और पूर्व संसद सदस्य शामिल थे। लोक सभा की महासचिव श्रीमती स्नेहलता श्रीवास्तव ने भी पुष्पांजलि अर्पित की।

इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले विशिष्टजनों को लोक सभा सचिवालय द्वारा हिन्दी और अंग्रेजी में प्रकाशित राजीव गाँधी के जीवनवृत्त वाली पुस्तिका भेंट की गई।

भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति, डॉ. शंकर दयाल शर्मा ने  20 अगस्त, 1993 को  संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में राजीव गाँधी के चित्र का अनावरण किया था।

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!
Leave A Reply

Your email address will not be published.