यूपी का मजाक उड़ाने वालों को अपमान…..कांग्रेस नेता शशि थरूर के ट्वीट के बाद मचा बवाल

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

समग्र समाचार सेवा
नई दिल्ली, 24जून। कांग्रेस नेता शशि थरूर के उत्तर प्रदेश पर विवादास्पद ट्वीट करने के बाद से लगातार उनकी आलोचाना की जा रही है. समाजवादी पार्टी के सांसद अफजाल अंसारी ने सोमवार को लोकसभा के सत्र के पहले दिन ही शशि थरूर के ट्वीट पर टिप्पणी करते हुए कहा, उत्तर प्रदेश का मजाक उड़ाने वालों को अपमान का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने कहा हालांकि संबोधित करने के लिए कुछ मुद्दे हैं, लेकिन आज मुख्य रूप से शपथ ग्रहण समारोह और अध्यक्ष की नियुक्ति के के बारे में. प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति के फैसले की निंदा की और सुझाव दिया कि एक वरिष्ठ सदस्य को नियुक्त करना बेहतर होता.

उत्तर प्रदेश किसे कहते हैं… ? वाला ट्वीट शेयर कर बुरे फंसे थरूर
शशि थरूर ने एक्स पर एक फोटो शेयर की थी, जिसमें प्रश्न और उत्तर था. फोटो में हिंदी में सवाल था, “उत्तर प्रदेश किसे कहते हैं?” उत्तर था, “वे प्रदेश जहां परीक्षा से पहले उत्तर का पता चल जाए, उसे उत्तर प्रदेश कहते हैं. थरूर के इस ट्वीट की भाजपा नेताओं ने भारी आलोचएं करते हुए इसे “शर्मनाक मूर्खतापूर्ण राजनीति” करार दिया है.

थरूर के ट्वीट में उत्तर प्रदेश को एक ऐसे राज्य के रूप में परिभाषित करने वाला एक हिंदी चुटकुला था, जहां परीक्षा के उत्तर पहले से पता चलते हैं. साथ ही हैशटैग “परीक्षा पे चर्चा” भी शामिल था. परीक्षा पे चर्चा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्टूडेंट्स से मुलाकात का था.

रूढ़िवादी छवि और पूरे राज्य को तुच्छ बताया
पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने ट्वीट की निंदा करते हुए थरूर पर श्रेष्ठता का प्रदर्शन करने का आरोप लगाया. केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने थरूर की रूढ़िवादी छवि और पूरे राज्य को तुच्छ बताने पर निराशा व्यक्त की. पुरी ने भारतीय सभ्यता, साहित्य और राजनीति में उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डाला और थरूर से आत्मनिरीक्षण करने को कहा.

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने विभिन्न संस्कृतियों के बारे में थरूर की बार-बार की जाने वाली व्यंग्यात्मक टिप्पणियों की आलोचना की, और थरूर के दिमाग को भटका हुआ बताया.

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!
Leave A Reply

Your email address will not be published.