आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने बिल्कुल सही कहा अहंकार की वजह से भाजपा की ऐसी दुर्गति हुई – शिवसेना (यूबीटी) नेता संजय राउत

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

समग्र समाचार सेवा
मुंबई, 15 जून। शिवसेना (यूबीटी) नेता संजय राउत ने कहा कि आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने बिल्कुल सही कहा अहंकार की वजह से भाजपा की ऐसी दुर्गति हुई ।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि अपने अहंकार की वजह से इन्हें लोकसभा चुनाव में ऐसी दुर्गति का सामना करना पड़ा। अहंकार की वजह से ये लोग महज 241 सीटों पर ही सिमटकर रह गए। इंद्रेश कुमार के इस बयान पर अब शिवसेना (यूबीटी) नेता संजय राउत की उक्त प्रतिक्रिया सामने आई है।

संजय राउत ने इंद्रेश कुमार का पक्ष लेते हुए कहा, “उन्होंने बिल्कुल सही कहा है। आज अगर इस लोकसभा चुनाव में भाजपा की ऐसी दुर्गति हुई है, तो इसका कारण भाजपा का अहंकार है। इंद्रेश कुमार जी ने बिल्कुल सही बात कही है। भाजपा को अपने अहंकार की वजह से ही हार का मुंह देखना पड़ा है।“ इसके अलावा, संजय राउत ने कई अन्य मुद्दों पर भी अपनी बात रखी।

बता दें कि इंद्रेश कुमार ने कहा था कि इनमें धीरे-धीरे अहंकार आ गया। आज भगवान राम ने इनके अहंकार को खत्म कर दिया है। ये लोग इस चुनाव में प्रशंसनीय परिणाम नहीं दे पाए। शायद अब इन्हें लोकतंत्र की ताकत का एहसास हो चुका होगा। हालांकि, यह राम जी की ही कृपा थी कि भाजपा देश की सबसे बड़ी पार्टी बन सकी, लेकिन इसके बावजूद भी ये लोग राम जी कृपा को नहीं समझ पाए। शायद इसलिए जो शक्ति भाजपा को इस चुनाव में मिलनी चाहिए थी, वो राम जी ने अहंकार के कारण रोक दी।

हाल ही में महाराष्ट्र सरकार ने वक्फ बोर्ड को 10 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। इस पर विश्व हिंदू परिषद सहित अन्य हिंदू संगठनों ने आंदोलन करने का फैसला किया है। इस पर जब संजय राउत से सवाल किया गया तो उन्होंने दो टूक कहा, “आपको जो कुछ भी करना है, कर लीजिए, अगर आप इस फैसले के विरोध में आंदोलन करना चाहते हैं, तो आपको पूरी स्वतंत्रता है, आप कर सकते हैं। हमें कोई आपत्ति नहीं है।“ इसके अलावा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में अजित डोभाल की तीसरी बार नियुक्ति होने पर संजय राउत से सवाल किया गया। जिस पर उन्होंने कहा, “मैं इस पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से बचूंगा, क्योंकि यह कोई राजनीतिक विषय नहीं है। यह प्रधानमंत्री के क्षेत्राधिकार का विषय होता है।“

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!
Leave A Reply

Your email address will not be published.