अमेरिका में गूंजा-भारत माता की जय

समग्र समाचार सेवा न्यू

जर्सी,अमेरिका-15 फरवरी

अमेरिका में आज कल भारत और भारतीयता की धूम मची हुयी है.वहां के  अप्रवासी भारतियों का स्वदेश प्रेम देखते ही बनता है.संभवतः अमेरिका के इतिहास में पहली बार वैलेंटाइन दिवस जैसे त्यौहार को राष्ट्र प्रेम दिवस में बदल देना .ये कोई भारतीय ही कर सकता है.चाहे वो अमरीकी क्यों न हो गया हो.वे सभी भारतीय गौरव के पात्र हैं.

अमरीका के तीन राज्यों के संगम स्थल गार्डन स्टेट न्यू जर्सी में 14 फरवरी को राष्ट्र प्रेम दिवस के तौर पर मनाया गया.पहल की थी अप्रवासी भारतीय और अमेरिका में इंडिया वर्ल्ड फाउंडेशन-युएसए के संस्थापक प्रमोद भगत ने.प्रमोद के अथक प्रयास से कई स्थानीय संस्थाएं उस अभियान में जुडी.फिर क्या था.लोग जुड़ते गए.कारवां बनता गया.और ये कार्यक्रम एक विशाल कार्यक्रम बन गया.फाउंडेशन के साथ युएसए हिंदी,सनातन मंदिर संडे स्कूल,औफ्बेजेपी-यूएसए के साथ अन्य कई संस्थाए इस अभियान में कंधे से कंधे मिलाकर राष्ट्र प्रेम दिवस मनाया.इस अनुपम अवसर पर करीब 600 से ज्यादा अमेरिकी भारतीयों  और अप्रवासी भारतीयों ने भाग लिया.

जहाँ तक भारत की बात है ,भारत आजकल विकास और परिवर्तन के नए दौर से गुजर रहा है .नए भारत के निर्माण के लिए अप्रवासी भारतियों अहम भूमिका रही है.नए भारत को मज़बूत बनाने को लेकर भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के योगदान को किसी भी तरह से नकारा नहीं जा सकता.

इस साल की तरह पिछले साल 2018 में भी  प्रधान मंत्री श्री मोदी ने इंडिया वर्ल्ड फाउंडेशन को आशीर्वाद दिया था कि फाउंडेशन उनके नए भारत की परिकल्पना को एक ठोस स्वरुप प्रदान करे.15 अप्रैल 2018 को अमेरिका के प्रसिद्ध समाजसेवी अल्बर्ट जसानी,पदमश्री डॉ सुधीर पारीख,डॉ भरत भराई,डॉ जस्सू भाई पटेल,प्रसिद्ध उद्योगपति चिंटू पटेल,डॉ राज भयानी जैसो दिलेर अमेरिकी भारतियों के सहयोग से एक विशाल कार्यक्रम’वैश्विक शांति सम्मेलन और नए भारत में मीडिया,संस्कृति और युवा की भूमिका”जैसे मसले पर एक विशाल आयोजन रॉयल अल्बर्ट पैलेस में किया गया था.जिसे न्यू जेर्सी के असेंबली और सीनेट ने के संयुक्त प्रस्ताव पारित कर खुले दिल से सराहना भी की थी.

भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने पत्र भेजकर इस कार्यक्रम के आयोजको का समर्थन किया था.

उस कार्यक्रम को अमरीका और भारत के बीच परस्पर सम्बन्धो में के मील का पत्थर बताया जा रहा है.कनाडा के प्रसिद्ध पत्रकार और टी वी प्रस्तोता ताहिर असलम गोरा और हलीमा सिद्दीकी के साथ राकेश तिवारी  ने उस अवसर पर आयोजित विश्व शांति यज्ञ में हवन भी किया था.उस कार्यक्रम में कई देशो की नामी हस्तियाँ भी शामिल हुयी थी.

इस वर्ष 2019 में फाउंडेशन की पहल पर राष्ट्र प्रेम दिवस के अवसर पर सभी ने मिलकर भारत की राष्टवादी फिल्म“उरी-ए सर्जिकल स्ट्राइकदेखी.फिल्म शुरू होने पहले सभी मौजूद लोगो ने एक स्वर में भारत का राष्ट्र गान “जन गण मन “गाया .न्यू जर्सी के सिनेमाघरों में भारतीय फिल्म.पुरे शो के दरम्यान सिनेमा घर में भारत माता की जय गूंजता रहा.

इस पूरे कार्यक्रमों को सफल बनाने में अमरीका के इंडिया वर्ल्ड फाउंडेशन,हिंदी यु एस ए,सनातन मंदिर,ofbjp के अलावा कई गणमान्य हस्तियों ने अपना योगदान दिया जिनमे प्रमोद भगत,राज मित्तल,वसंत नायक,कृष्णा रेड्डी,डॉ अडपा प्रसाद,डॉ शिव अग्रवाल,दीपेंदर सिंह,सुश्री नीरज भगत,रवि बुधुनारू,कल्पना शुक्ला,सुनीत शुक्ला,मनीष शशि श्रीवास्तव,दिनेश देसाई,वासुदेव पटेल,मानक काबरा,राज्यलक्ष्मी,गायत्री पाण्डेय,देव कार्लेकर,विलास रेड्डी प्रमुख हैं .

पुलवामा हमले को लेकर अमेरिका स्तब्ध

उस फिल्म के बाद सभी दर्शको को सूचना मिली कि पाकिस्तान की आतंकवादी संगठन जैश ए मोहमम्द ने भारत के 40 से ज्यादा सेना के जवानों को आत्मघाती विस्फोटक दस्ता से कश्मीर के पुलवामा में  उड़वा दिया.सबकी आँखे नम हो गयी.वही पर पाकिस्तान मुर्दावाद के भी नारे लगने लगे.सबने उस फिल्म के बाद अलग लग तरीकों से अपना अपना गुस्सा जाहिर किया.

बाद में सभी अप्रवासी भारतियों ने पाकिस्तान और आतंकवाद के खिलाफ नारे लगाये और उन सभी शहीदो की याद में मोमबत्ती जलाये और मार्च किया.

इस मौके पर सभी की आँखे शोक से ग़मगीन हो गयी.सबने अपने अपने उदगार भी व्यक्त किये.

इंडिया वर्ल्ड फाउंडेशन-यु एस ए के संस्थापक-निदेशक प्रमोद भगत ने पुलवामा हमले को पाकिस्तान का कायराना हमला बताया.श्री भगत ने प्रधान मंत्री श्री मोदी से अपील की –इंट का जवाब पत्थर से दिया जाना चाहिए.

पारीख वर्ल्ड वाइड मीडिया और अमरीकी टी वी “आई टी वी गोल्ड” के अध्यक्ष पदमश्री डॉ सुधीर पारीख ने कहा कि पुलवामा शहीदों के लिए हम सब इश्वर से दुआ करते हैं ,उनके दुःख की घड़ी में पूरा अमरीकी भारतीय समुदाय भारत के साथ है.सभी अमरीकी भारतीय उन शहीदों के परिवारों के लिए बहुत कुछ करने की एक योजना पर अमल करेगी.

भाजपा की वैदेशिक इकाई (OFBJP) अमेरिका के अध्यक्ष कृष्णा रेड्डी अन्गुला ने शहीदों को नमन करते हुए कहा  कि हम सब पाकिस्तान के उस दुर्दांत अमानवीय कार्य से बहुत दुखी है.पाकिस्तान समय रहते उन आतंकवादियों के खिलाफ सख्त कदम उठाये.नहीं तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे.

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *