प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज दक्षिण‌ भारत दौरा

अनामी शरण बबल

नयी दिल्ली/ हैदराबाद/चेन्नई/बंगलुरू-  आंध्र, तमिलनाडु और कर्नाटक में आज भारी विरोध और काले झंडों के बीच खिलाफत के पोस्टरबाजी के बीच जनसभा और कई कार्यक्रमों को अंजाम देना पडा। सख्त सुरक्षा प्रबंधन के चलते विरोधी ताकतों राजनैतिक दलों के खास कामयाबी नहीं मिली। मग र अपनी वाकपटुता और संवाद कौशल के चलते प्रधानमंत्री ने अपने दौरे को सफल बनाया।  को    मोदी की रैलियां, जगह-जगह लगे मोदी विरोधी पोस्टर्स से माहौल भी गरमाया। ठीक लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री के विरोध से आम नागरिकों में केंद्र सरकार के प्रति  सहानुभूति बढी है। 
‘मिशन 2019’ की तैयारी में जुटे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के अलग-अलग इलाकों में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। नॉर्थ-ईस्ट के बाद पीएम की नजर अब दक्षिण भारत पर है और रविवार को वह आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक में रैलियां की। इससे दक्षिण भारत का सियासी पारा गरमा गया है। इस बीच आंध्र प्रदेश के कई शहरों में मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के आह्वान पर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से पहले मोदी विरोधी पोस्टरों से पटे हुए थे।
प्रदेश बीजेपी समेत राजनीतिक गलियारों में पोस्टर के चलते हड़कंप मचा हुआ है। कुछ पोस्टरों में लिखा ।।नो मोर मोदी ।।, # मोदी इज ए मिस्टेक और मोदी नेवर अगेन…। एक पोस्टर में तो आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पीएम मोदी और अन्य नेताओं पर तीर-धनुष से निशाना साध रहे हैं। बता दें कि तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के एनडीए से निकलने के बाद राज्य में यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली यात्रा है। नायडू ने इस यात्रा का पहले ही विरोध करने का सार्वजनिक ऐलान किया था।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आंध्र प्रदेश के गुंटुर में एक रैली को संबोधित करना था। मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने अपने कार्यकर्ताओं को शनिवार को ही कॉल करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के दौरान गांधीवादी प्रदर्शन करने का आह्वान किया। एक टेलिकॉन्फ्रेंस के जरिए नायडू ने अपने पार्टी नेताओं से कहा, ‘यह काला दिन है। पीएम मोदी यह देखने आ रहे हैं कि उन्होंने आंध्र प्रदेश के साथ क्या अन्याय किया है।
  मोदी ने गुंटूर पहुंचकर यहां कृष्णाकटनम बीपीसीएल कोस्टल टर्मिनल प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी। भारी विरोध के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैली ने जनसभा को संबोधितरते हुए कहा कि जनता का ये प्यार वो सर आंखों पर लेते हैं और जनता का यही प्यार उन्हें जनता के लिए दिन रात काम करने की प्रेरणा देता है। पीएम ने कहा कि यहां पर स्थित अमरावती प्राचीन भारत की संस्‍कृति का केन्द्र रही है। केंद्र सरकार ने “हृदय योजना” के तहत अमरावती को हेरिटेज सिटी के रूप में चुना है। यहां पर नए भारत का सेंटर बनने की भी पूरी क्षमता है।
 प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अमरावती को यहां का “ऑक्सफोर्ड” भी कहा जाता है और विभिन्न स्थानों के युवा अपने सपनों को पूरा करने के लिए यहां आते हैं। नये भारत के निर्माण की सोच के साथ यहां प्रेट्रोलियम से जुड़े इतने प्रोजक्ट की आधारशिला रखी गई है। इतने सारे विकास प्रोजक्ट को लांच करने के पीछे एक ही सोच है कि इससे नागरिकों के वर्तमान जीवन को उन्नत और बेहतर बनाया जा सके। केंद्र सरकार कठिन समय में तेल और गैस आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए विभिन्न स्थानों पर तेल भंडार का निर्माण कर रही है। इन सबसे जीवन तो बेहतर होगा ही साथ रोजगार की संभावना भी बढ़ेगी। न्यू इंडिया को एक नई, साफ-सुथरी, प्रदूषण रहित आर्थिक ताकत बनाना हमारा लक्ष्य है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज उज्जवला योजना के तहत गरीबों, दलितों और जनजातियों को मुफ्त गैस कनेक्शन देने का काम भी तेज गति से आगे बढ़ रहा है। गैस कनेक्शन देने का काम 1955 में शुरू किया गया था। 60 साल में केवल 12 करोड़ कनेक्शन दिए गए थे। जबकि हमारी सरकार ने सिर्फ 4 साल में 13 करोड़ गैस कनेक्शन दिए। जिन लोगों ने लोगों को धुएं में झोंक दिया था वे अब झूठ का धुंवा फैला रहे हैं। महामिलावट का ये असर है कि यहां के सीएम चंद्रबाबू नायडू भी अपने राज्या के विकास का काम छोड़ कर मोदी को गाली देने के अभियान में जुट गए हैं। उन्होंने अमरावती के नवनिर्माण का वादा किया था पर वो खुद के निर्माण में लग गए हैं। उन्होंने राज्य के सनराइज का वादा किया था पर अपने सन को राइज कराने में लग गए हैं। सीएम बार बार मुझे ये अहसास दिलवा रहे हैं कि वे मुझसे सीनियर हैं। वो मुझसे सीनियर हैं, मैंने उनके इज्जत में कोई कमी नहीं रखी है।
प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि आंध्र के सीएम ने आंध्र के बुनियादी ढांचे को विकसित करने का वादा किया लेकिन अब उन्होंने यू-टर्न ले लिया। पीएम ने कहा कि ‘आप हमारे सीनियर हैं, इसलिए आपके सम्‍मान में हमने कोई कमी नहीं छोड़ी। आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं दूसरी पार्टियों से गठबंधन करने में, आप सीनियर हैं एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव में हारने में और मैं तो उसमें सीनियर हूं नहीं।’टीडीपी के नेता को कांग्रेस मुक्त भारत के लिए काम करना चाहिए था, पर अब कांग्रेस पार्टी का समर्थन कर रहे हैं। वे सीनियर हैं अपने ससुुर के पीठ पर छूरा घोंपने में। जो एनटीआर कांग्रेस से चिढ़ते थे उनके दामाद उसी कांगेस की गोद में जाकर बैठे हैं।
 प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि पहले उनसे दिल्ली  की सरकार कोई हिसाब नहीं लेती थी पर ये जो चौकीदार है ये उनसे हिसाब मांगता है कि कहां पैसा खर्च हुआ और ये उनसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है। अभी मैंने सरकार का काम सरकार के पैसे से एक छोटे से कमरे में किया और ये बड़ा कार्यक्रम बीजेपी पार्टी के कार्यकर्ता के खर्चे पर हो रहा है। यही अंतर है उनमें और हममें। उनसे मेरा रिक्वेस्‍ ट है कि दिल्ली आकर फोटो खिंचवाने से पहले और मोदी को गाली देने से पहले वे अपने खर्चे का हिसाब दें। बचपन में टीचर सवाल पूछकर कहते थे गो बैक और मुझे खुशी है कि आज तेलगू देशम पार्टी ने भी मुझे कहा है गो बैक। हमारा काम देश के लिए वेल्थ इकट्ठा करना है न कि अपने लिए वेल्थ इकट्ठा करना। एनटीआर की विरासत संभाल रहे नेता जब अपनी कमी छुपाने के लिए दुसरों पर इल्जाम लगाने लगे और ध्या न भटकाने के लिए आरोप लगाने लगे तो हमे समझ जाना चाहिए कि उनकी जमीन खिसक चुकी है।
प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि मैं चंद्रबाबू नायडू को याद दिलाना चाहता हूं कि हमारा उद्देश्य राष्ट्र के वेल्थ और संसाधनों का कुशल उपयोग सुनिश्चित करना है। पिछले 55 महीनों में केंद्रीय सरकार ने आंध्र के विकास के लिए पर्याप्त धनराशि जारी की है। हालांकि, राज्य सरकार ने कभी भी एक कुशल तरीके से आवंटित धन का उपयोग नहीं किया। हमारी सरकार ने आंध्र को स्पेशल स्टेटस के तहत जितना उल्लिखित था उसकी तुलना में बहुत ज्या दा दिया। आंध्र प्रदेश के सीएम ने इस पैकेज को स्वीकार किया लेकिन बाद में यू-टर्न लिया क्योंकि वे फंड का उचित तरीके से उपयोग करने में असफल रहे और राज्य का विकास नहीं कर पाए। मैंने भी मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया है इसलिए मैंने सुनिश्चिित किया है कि बंटवारे के बाद आंध्रप्रदेश को कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। आंध्र प्रदेश के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की राशी स्वी‍कार की गई है, इन आंध्र प्रदेश री-ऑर्गनाइजेशन एक्ट परियोजनाओं मे आंध्र प्रदेश के लिए तर्क और विनिर्माण केंद्र और केंद्रीय संस्थान शामिल हैं। अनंतपुर में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम में आईआईएम और मंगकागिरी में एम्स केंद्र सरकार द्वारा राज्य के लिए योजना बनाई गई है। आज यहां के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने मोदी के लिए गालियों की डिक्श नरी बना ली है हर दिन एक नई गाली देते हैं क्या् आंध्रप्रदेश का यही संस्कार है। ये बाप बेटे की सरकार, आज आपने देख लिया। कई महीनों से आप बोल रहे थे,गाली दे रहे थे और मैं चुप था। आज देख लीजिए आंध्रप्रदेश की जनता ने इतनी बड़ी संख्या में यहां आकर कैसा सम्मान दिया है। इस बाप बेटे की सरकार का जाना तय है। हमारे यहां परंपरा है कि घर का मुखिया बुजुर्ग हर अच्छी चीज से पहले काला टीका लगाते हैं ताकि नजर न लगे। मैं आज बाबू गारो को धन्यवाद देता हूं कि उन्हों ने काले बैलून लगा कर हमारे कार्यक्रम को काला टीका लगाया ताकि किसी की बुरी नजर न 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में रैली के दौरान सीएम चंद्रबाबू नायडू और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उन्होंने आंध्र के गरीबों के लिए नई योजनाएं चलाने का वादा किया था लेकिन मोदी की योजनाओं पर ही अपना स्टीकर लगा दिया है। इस दौरान उन्होंने एनटी रामाराव का नाम लेकर चंद्रबाबू नायडू पर तीखा निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि नायडू ने अपने ससुर (एनटी रामाराव) की पीठ पर छुरा घोंपा है। उन्होंने कहा, ‘क्या मजबूरी है कि वह नामदारों के सामने सर झुकाकर बैठ गए हैं।
यहां देखें वीडियो 

http://v.duta.us/eyaPCgAA
पीएम ने कहा, ‘मैं तो हैरान हूं कि आखिर सीएम को हो क्या गया है वो बार-बार मुझे याद दिलाते हैं कि वो मुझसे बहुत सीनियर हैं। मैं कहता हूं कि आप सीनियर हैं इसलिए आपके सम्मान में कोई कमी नहीं छोड़ी। आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं नए-नए दल से गठबंधन करने में। आप सीनियर हैं खुद के ससुर की पीठ पर छुरा घोंपने में। आप सीनियर हैं एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव हारने में, मैं तो उसमें सीनियर हूं नहीं।’
पीएम ने विरोधी पोस्टर पर तंज कसते हुए कहा, ‘जब हम स्कूल में पढ़ते थे तो टीचर कहती थीं- गो बैक वापस सीट पर जाकर बैठो। मैं खुश हूं कि टीडीपी ने मुझे कहा है कि गो बैक वापस जाकर दिल्ली में बैठो। आज महामिलावट के जिस क्लब में यहां के सीएम शामिल हुए हैं उसका स्वार्थ सिर्फ अपने राजनीति के दीये को जलाए रखना है। इन पर अब कानून का शिकंजा कस रहा है। आपके चौकीदार ने इनकी नींद हराम कर दी है। पाई-पाई का हिसाब देना पड़ा तो यहां के सीएम को तकलीफ हो रही है।’
यहां देखें फोटो 

http://v.duta.us/fWK7cwAA
*दूत पर PM Modi News:**आपके ग्रुप में add कीजिये +917397686001*
पसंद करने के लिए इस मैसेज को reply करें और टाइप करे 

मोदी के विरोध में काली शर्ट

पहन चंद्रबाबू नायडू ने ली

बैठक?*
तेलुगू देशम पार्टी से गठबंधन टूटने के बाद रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार आंध्र प्रदेश के दौरे पर गए। उनके इस दौरे के खिलाफ टीडीपी ने प्रदर्शन किया। प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हुए राज्य का कोई भी मंत्री प्रधानमंत्री की औपचारिक अगवानी के लिए गन्नवरम हवाई अड्डे पर नहीं पहुंचा। विजयवाडा और गुंटूर में तेदेपा कार्यकर्ताओं ने काली कमीजें पहनी और ‘मोदी वापस जाओ’ के नारे लगाए।
इसी दौरान राज्य से मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू की कृष्णा जिले में अधिकारियों के साथ बैठक की तस्वीरें सामने आईं, जिसमें वो काली शर्ट पहने हुए थे। ऐसे में कहा जा सकता है कि क्या पीएम मोदी के विरोध में उन्होंने ये काली शर्ट पहनी।
टीडीपी के विरोध-प्रदर्शन का पीएम मोदी ने भी अपने तरीके से जवाब दिया। पीएम ने कहा कि मैं टीडीपी का धन्यवाद हूं, जिसने मुझे गो बैक कहा, यानी वो कह रहे हैं कि वापस जाकर दिल्ली पर बैठो। मुझे देश की जनता पर पूरा भरोसा है कि वो तेलुगू देशम पार्टी की इच्छा को पूरा करेंगे और मुझे फिर से दिल्ली की गद्दी पर बैठा देंगे।
यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/MmQWgAAA
*दूत पर PM Modi News:**आपके ग्रुप में add कीजिये +919677091508*

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *