चुनावी बजट उर्फ संसद में आम बजट 2019-20 पेश

 अनामी शरण बबल-

पीयूष गोयल  का  लोकलुभावन  चुनावी बजट

1. प्रस्तुति- अनामी शरण बबल-
कार्यवाहक वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने संसद में शुरू की बजट स्पीच। पीयूष गोयल ने कहा कि सरकार का प्रयास रहा सोच के बदलने का। जनता ने बहुमत वाली सरकार चुनी। देश में भ्रष्टाचार खत्म हुआ, दुनिया ने भारत की ताकत को पहचाना, हम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हमारी सरकार ने कमर तोड़ महंगाई की कमर ही तोड़ दी। 2022 तक सरकार सबको घर देगी। 2022 तक हम नया भारत बनाएंगे।3/
लोक लुभावन बजटः  
पीयूष गोयल ने कहा- हमने ‘कमरतोड़’ महंगाई की ‘कमर तोड़’ दी
वित्त मंत्री पीयूष गोयल शुक्रवार को मोदी सरकार के वर्तमान कार्यकाल का आखिरी बजट पेश कर रहे हैं। यह एक अंतरिम बजट है। अरुण जेटली की तबीयत खराब होने की वजह से पीयूष गोयल बजट पेश कर रहे हैं। गोयल ने कहा कि साढ़े चार सालों में बीजेपी ने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाई है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी। 
गोयल ने कहा,भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती इकोनॉमी है। सरकार ने कई बड़े आर्थिक सुधार किए न्यू इंडिया के लिए कई योजनाएं शुरू की। हमारा लक्ष्य 2022 तक न्यू इंडिया बनाने कहा है। पीएम मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार भारत ग्रोथ के पथ पर अग्रसर है। देश के संसाधनों पर पहला अधिकार गरीबों का है। हमारी सरकार में RERA और बेनामी संपत्ति कानून से पारदर्शिता आई। कई सारे बैंक जल्द ही PCA से बाहर होंगे।
गोयल ने कहा कि महंगाई काबू करने में सफलता पाई। सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़ी। ज्यादातर एफडीआई ऑटोमेटिक रूट के जरिए आ। एफवाई 19 में वित्तीय घाटा 3.4% रहने का अनुमान है। करेंट अकाउंट घाटा 2.5% रहेगा। यूपीए-2 के समय औसत महंगाई 10% से ज्यादा थी।
बजट को लेकर इससे पहले उस समय भ्रम की स्थिति बन गई थी जब वाणिज्य मंत्रालय ने मीडिया को भेजे एक व्हॉट्सएप संदेश में, “2019-20 के बजट को अंतरिम बजट न बताकर इसे 2019-20 के आम बजट के तौर पर बताया।’’ हालांकि, गोयल ने अपने भाषण में अंतरिम बजट शब्द का इस्तेमाल किया।
विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार लोकलुभावन वादे करने वाली है। आज तक उन्होंने जितने बजट पेश किये उनका आम आदमी को खास फायदा नहीं हुई है। आज भी केवल जुमले ही निकलेंगे। उनके पास केवल 4 महीने हैं, वे इन योजनाओं को कैसे लागू करेंगें।।
4/
अंतरिम बजटः2019-2020
किसानों के खातों में जमा होंगे 6,000 रुपए, मजदूरों को मिलेगी पेंशन*
मोदी सरकार के कार्यवाहक वित्त मंत्री पीयूष गोयल आज संसद में अंतरिम बजट पेश कर रहे हैं। गोयल ने बजट स्पीच पेश करते हुए अंतरिम बजट में विभिन्न घोषणाएं की। इसमें किसानों के लिए सरकार ने महत्वपूर्ण घोषणा की है। सरकार ने मेगा पेंशन योजना शुरू की।।।
ये रही बजट की प्रमुख घोषणाएं-
– दो हैक्टेयर की खेती वाले किसानों के खातों में सीधे जमा होगा 6 हजार रुपए। इसमें 12 करोड़ किसानों को फायदा होगा।
– पीएम किसान सम्मान निधि के लिए 75000 करोड़ का पैकेज ।
– पशुपालन और मत्स्य पालन करने वाले किसानों को कर्ज में दो फीसदी ब्याज की छूट।
– आपदा पीडित किसानों को ब्याज में 5% की छूट मिलेगी।
– गायों के लिए सरकार शुरू करेगी कामधेनु योजना। इसके लिए राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की घोषणा की गई है। इस पर 750 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
– प्रधानमंत्री श्रम योगी मनधन योजना के तहत 60 साल की आयु के बाद असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए प्रति माह 100 रुपए के योगदान के साथ 3000 रुपए प्रति माह की मासिक पेंशन का आश्वासन। पेंशन योजना से असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ श्रमिकों को लाभ होगा।
– सैनिकों को दिए जाने वाले 3500 रुपए को बोनस को 7000 किया गया।
– ग्रैच्यूटी की सीमा 20 लाख रुपए । ।।

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *