जीआरडी स्कूल की सीबीएसई ने मान्यता रद्द की; छात्रा के साथ दुष्कर्म छुपाने और गर्भपात कराने की करी थी कोशिश

देहरादून, उत्तराखंड: राजधानी देहरादून में नाबालिग छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म और गर्भपात कराने के मामले में भाऊवाला जीआरडी वर्ल्ड स्कूल पर सीबीएसई की गाज गिरी है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने स्कूल की मान्यता रद्द कर दी है। राज्य सरकार की सिफारिश के बाद सीबीएसई ने स्कूल की मान्यता रद्द कर दी है।

सीबीएसई की तरफ से जारी पत्र के अनुसार बोर्ड की ओर से स्कूल को 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2018 तक सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी के लिए प्रोविजनल एफिलिएशन प्रदान किया गया था। स्कूल प्रबंधन की ओर से इसके एक्सटेंशन के लिए भी बोर्ड को प्रार्थना पत्र दिया गया था। लेकिन 14 अगस्त को स्कूल में नाबालिग छात्रा से हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार की मान्यता रद किए जाने की संस्तुति और शिक्षा विभाग के निरीक्षण में पाई गई खामियों के मद्देनजर स्कूल की मान्यता रद्द कर दी गई है।

बोर्ड ने स्कूल प्रबंधन को साफ आदेश दिए हैं कि वह मान्यता रद्द होने के बाद कहीं भी बोर्ड एफिलिएशन नंबर का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। इतना ही नहीं 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं के नए दाखिलों पर भी रोक लगा दी गई है।

क्षेत्रीय अधिकारी के अनुसार, बोर्ड स्कूल में पढ़ रहे मौजूदा छात्रों के भविष्य को लेकर भी संवेदनशील है। इसे देखते हुए अभी तक जितने भी छात्र बोर्ड में पंजीकृत हैं, उनका नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। दसवीं व बारहवीं के पंजीकृत छात्र, वर्ष 2019 की बोर्ड परीक्षा दे पाएंगे।

कृपया इस पोस्ट को साझा करें!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *